Category Archives: Shayari Sangrah

Khwaab Tute Hue, Dil Dukhaate Rahe

Khwaab Tute Hue, Dil Dukhaate Rahe

ख्वाब टूटे हुए, दिल दुखाते रहे, देर तक वो हमे याद आते रहे, काट ली आँसुओं में जुदाई की रात, शेर कहते रहे, गाने गुनगुनाते रहे, तेरे जलवे पराए हुए मगर गम नहीं, ये तस्सल्ली भी अपने लिए कम नहीं,

Hansi Dekh Ke Meri Sab Mehfil Main Muskura Diye

हँसी देख के मेरी सब महफ़िल मैं मुस्कुरा दिए, तुमने पढ़ लिए शायद गम जो मेरे पास आ गये, बाहों मैं भर के पूछा जब तुमने, कुछ ना बोले हम बस मुस्कुरा दिए, जाना था आज तुम्हे हमसे दूर हमेशा

Ab Aansuo Ko Aankho Me Sajana Hoga

अब आंसुओ को आँखों मैं सजाना होगा, चिराग बुझ गये खुद को जलाना होगा! ना समझना के तुमसे बिछड़ के खुश हैं, हमे लोगों की खातिर मुस्कुराना होगा! फिर शाम ढाल गई तुम आए ना आज भी, दिल को आज

Na Jane Kyun Kisi Ka Bewafa Hone Jaruri Tha

जुदा होने के मौसम में जुदा होना ज़रूरी था, ना जाने क्यूँ किसी का बेवफा होना ज़रूरी था, मेरे दिल ने जो इस को पूजने की इंतेहा कर दी, तो फिर उस बेवफा का भी खुदा होना ज़रूरी था, किसी

Hum Dekhte Reh Gaye Hath Se Jana Dil Ka

उन के अंदाज़-ए-करम उन पे वो आना दिल का, हाए वो वक़्त, वो बातें, वो ज़माना दिल का, ना सुना उसने तवज्जो से फसाना दिल का, उमर गुज़री पर दर्द ना जाना दिल का, दिल्लगी, दिल की लगी बन के