थायराइड का घरेलू इलाज – Home Remedies for Thyroid Treatment in Hindi

Thyroid Treatment in Hindi: आज कल के दौर में थायराइड एक बहुत बड़ी समस्या का रूप ले चुकी है। बच्चों में ये रोग होने पर शरीर फैलना और लंबाई बढ़नी रुकना जैसी समस्याएं आने लगती है। ये समस्या महिलाओ में पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा पाई जाती है। वर्तमान समय में अति व्यस्त और तनावपूर्ण जीवनशैली थाइराइड रोग का प्रमुख कारण है। तो आईये जानते है थायराइड के घरेलू उपचार, थायराइड का घरेलू इलाजThyroid Treatment in Hindi और पढ़ते है ऐसे कुछ उपायो के बारे में जिससे आप अपनी थायराइड की समस्या से छुटकारा पा सके।

Thyroid Treatment in Hindi

थायराइड हमारे शरीर मे पाए जाने वाले एंडोक्राइन ग्लैंड में से एक है जो की थाइराक्सिन नामक हार्मोन बनाती है, दोस्तो आमतौर पर शुरुआती समय में थायराइड के किसी भी लक्षण का पता आसानी से नहीं चल पाता है, क्योंकि ये एक गर्दन में छोटी सी गांठ की तरह सामान्य ही मान ली जाती है, और जब तक इसे गंभीरता से लिया जाता है, तब तक यह बिमारी भयानक रूप ले लेती है। इसलिए हम आपको इस रोग के घरेलू उपचार बताने से पहले इस रोग के बारे बारे मे बताने जा रहे है:

थाइरोइड क्या है जाने हिंदी में

What is Thyroid in Hindi: थायराइड एक प्रकार की ग्रंथि होती है जो थाइराक्सिन नामक हार्मोन बनाती है जिससे शरीर के ऊर्जा क्षय, प्रोटीन उत्पादन एवं अन्य हार्मोन के प्रति होने वाली संवेदनशीलता नियंत्रित होती है। थायराइड का आकर तितली की तरह का होता है।

थाइराइड ग्रंथि हमारे हृदय, हमारी मांसपेशियों, हमारी हड्डियों व हमारे कोलेस्ट्रोल पर पूरा असर डालती है। थायराइड ग्रंथि के बढ़ने पर कई प्रकार की समस्याएं आ सकती है।

थायराइड दो प्रकार के होते है:
हाइपो थायराइड (निष्क्रिय थाइरोइड) – Hypothyroidism
हाइपर थायराइड (अतिसक्रिय थाइरोइड) – Hyperthyroidism

हाइपरथायराइड होने पर शरीर में थायराइड हार्मोंस कम होने लगते है और हाइपोथायराइड में हार्मोंस बढ़ने लगते है।

कहीं आप को भी तो नहीं थायराइड जानिये थायराइड रोग के लक्षण हिंदी में – Symptoms of Thyroid in Hindi

थाइराइड का प्राकृतिक उपचार – Natural Thyroid Treatment in Hindi

हल्दी वाला दूध

थायराइड की समस्या से जल्दी छुटकारा पाने के लिए आप रोजाना दूध में हल्दी को पका कर इसका सेवन करे। अगर किसी कारण वश आप हल्दी का दूध नहीं पी सकते तो हल्दी को भून कर इसे उपयोग में ले थाइरोइड के ट्रीटमेंट अर्थात थायराइड के घरेलू उपचार में यह बहुत लाभदायक रहता है।

अदरक का सेवन अदरक का सेवन से करे थाइराइड का प्राकृतिक व घरेलू इलाज

आमतौर पर घरो में अदरक आसानी से मिल ही जाती है। जिसका उपयोग हम थायराइड का घरेलू इलाज में कर सकते है, क्योकि इसमें मौजूद गुण जैसे पोटेशियम, मैग्नीश्यिम आदि थायराइड की समस्या से मुक्ति दिलाते हैं।

लौकी का जूस

रोजाना प्रतिदिन सुबह खाली पेट लौकी के जूस का सेवन करने से भी थाइरोइड की समस्या से मुक्ति मिलती है। ध्यान रखे की जूस पीने के आधे घंटे के अंतराल तक कुछ खाये पिए नहीं। नियमित सेवन से लोकी का जूस सबसे बेहतरीन थायराइड का घरेलू इलाज साबित हो सकता है।

लाल प्याज से करे थायराइड का घरेलू इलाज

थाइरोइड की समस्या से मुक्ति पाने का लाल प्याज बहुत ही कारगर नुस्खा है, इस नुस्खे को काम में ली की लिए आप एक प्याज ले औए इसे बीच से काट कर दो टुकड़े कर ले और रात को सोने से पहले थायराइड ग्रंथि के नजदीक मसाज करे।

दही और दूध का सेवन

थाइरोइड की समस्या वाले लोगों को दही और दूध का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए। दूध और दही में मौजूद मिनरल्स, कैल्शियम और विटामिन्स थायराइड की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों को स्वस्थ बनाए रखने का काम करते हैं।

आयुर्वेदिक उपचार – Thyroid Treatment in Ayurveda in Hindi

थायराइड की समस्या से छुटकारा पाने के लिए हमारे पास कई आयुवेर्दिक उपाय हैं जिनके जरिए हम अपने में घर में ही मौजूद घरेलू चीजों से थाइरोइड का ट्रीटमेंट कर सकते है।

तुलसी और एलोवेरा: तुलसी और एलोवेरा का सेवन थायराइड पीड़ित लोगो के लिए रामबाण हो सकता है, इसके लिए दो चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिला कर उपयोग में ले। थायराइड के घरेलू उपचार में यह गुणकारी रहता है।

हरा धनिया: थायराइड का आयुर्वेदिक उपचार करने के लिए करने के लिए धनिया पीस कर चटनी बनाये और एक गिलास पानी में एक 1 चम्मच चटनी को घोल कर पिए तुरंत लाभ मिलेगा।

मुलेठी का सेवन: थायराइड रोग से पीड़ित व्यक्तियों को थकान बड़ी जल्दी लगने लगती है, ऐसे में मुलेठी का सेवन करना उनके लिए बहुत लाभकारी रहता है। इसमें मौजूद आयुर्वेदिक तत्व थायराइड ग्रंथी का संतुलन बनाये रखते है और इसके अलावा मुलेठी थायराइड में कैंसर को बढ़ने से भी रोकता है।

फलों और सब्जियों का सेवन: थायराइड में फलों और सब्जियों का सेवन लाभकारी रहता है क्योकि फलो और सब्जियों में एंटीआक्सिडेंटस पाए जाते है जो थायराइड को बढ़ने से रोकते है।

बाबा रामदेव मेडिसिन: अगर आप थायराइड रोग से जल्दी से छुटकारा चाहते है तो आप बाबा रामदेव की बताई आयुर्वेदिक दवा ले सकते है जिसका नाम है दिव्या कांचनार गुग्गुलु ले।

Thyroid Treatment by Acupressure

एक्युप्रेशर से थायराइड का उपचार

थायराइड से परेशान व्यक्ति एक्यूप्रेशर के माध्यम से भी अपनी बिमारी से छुटकारा पा सकता है। थायराइड के बिन्दु होते है वो हमारे शरीर में हाथो और पैरो के अंगूठे के नीचे और थोड़े उठे हुए भाग में होते है। आप उन बिन्दुओ को बाए से दाए काम से काम 3 मिनट तक दबाये लाभ मिलेगा।

Thyroid Treatment in Homeopathy in Hindi

आप चाहे तो इसका ट्रीटमेंट होम्योपैथिक दवाओं से भी कर सकते है इसके लिए आप किसी होमियोपैथी डॉक्टर से मिल सकते है।

थायराइड में परहेज

दोस्तों हम आपको कितने भी थायराइड के घरेलू उपचार, gharelu ilaj, नुस्खे या उपाय बता दे लेकिन ये तब तक काम नहीं करेंगे जब तक आप इसको बढ़ावा देने वाली चीजो में परहेज नहीं करोगे। इसलिए हम आपको बता रहे की आप थायराइड रोग के लक्षण पाए जाने पर इन चीजो में परहेज करे जिससे आपको हमारे द्वारा बताये गए थायराइड के घरेलू उपचारो और उपायो से तुरंत फायदा मिले।

आप जितना हो सके चावल, मैदा, मिर्च-मसाले, खटाई, मलाई, अंडा, अधिक नमक का सेवन बंद कर दें। तुरंत लाभ पाने के लिए आप नमक में सेंधा नमक का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *